Sampurn Parichay (Full Introduction)

हवाओं से भी फुर्तीली, कल्पनाएँ हैं मेरी सत्य में लिपटी बातें है मेरी जहां आप पहुँच नहीं सकते वहीं से प्रारम्भ सोच है मेरी  अभी तो आरम्भ, मात्र नाम से हुआ है संपूर्ण परिचय मेरा, शेष है अभी। Hawaon Se Bhi Furtili, Kalpnayen Hain Meri Satya Mein Lipati Baaten Hain Meri Jahan Aap Pahunch Nahin Sakte…

Read more

Lakshya (Target)

स्वयं को, निपुण बनाने के लिए अभ्यास भी नित्य करो तुम बंधु मात्र आस्था रखने से, तुमको कदाचित, स्वप्न में ही लक्ष्य पूर्ण दिखेंगे। Swayam Ko, Nipud Banane Ke Liye Abhyaas Bhi Nitya Karo Tum BandhuMaatr Astha Rakhne Se, TumkoKadachit, Swapn Mein Hi Lakshya Purn Dikhenge. To make yourself brilliant and worthy  You need to hone your skills daily You…

Read more

Tamasha (Exhibition)

कुछ बात ऐसी थी  कि चुप रहना पड़ा हमको तमाशा-ए-ग़म के, ऐ दोस्त हम शौक़ीन नहीं है। Kuch Baat Aisi Thi Ki Chup Rahna Pada Humko Tamasha-e-Gham Ke, Aye Dost Hum Shoukeen Nahi Hai. Something that came up Forced my silenceThe exhibition of our despondency, my friendIs not something that I am fond of.

Read more

Magan (Bliss)

क्यूँ ऐसे तू ठुमक रही? जैसे हो कोई बावरीक्या मिल गया तुझे, तेरा कृष्ण, मीरा?क्यूँ ऐसे मगन हो नाच रही? Kyun Aise Tu Thumak Rahi?Jaise Ho Koi BawariKya Mil Gaya Tujhe, Tera Krishn, Meera?Kyun Aise Magan Ho Naach Rahi? You’re flowing like a tranquil breeze, andDrifting ubiquitously with an easeDid you find Lord Krishna, Meera?Disclose…

Read more

Deedar (Glimpse)

दीदार तेरा हुआ आज,तो सारे गिले मिट गएजहां की सारी पाबंदियाँ आज,ख़ुद-ब-ख़ुद ही हट गएमुस्कान मेरी चेहेरे पर,आज बेवजह ही खिल पड़ीमैंने पूछा उससे, क्या हुआ,तू क्यूँ यूँही हँस रही?शर्माते हुए फिर होंठ मेरे,तेरा नाम कह गयीं। Deedar Tera Hua Aaj,To Saare Gile Mit GayeJahan Ki Saari Pabandiyan AajKhud-B-Khud Hi Hat GayeMuskaan Meri Chehre ParAaj…

Read more

Charitraheen (Characterless)

आज फिर से उठा प्रश्न चरित्र पर मेरे,  आज फिर से उठी उँगली चेहरे की तरफ़ मेरे, ख़ुश रहने की कला मेरी चरित्रहीन हो गयी। Aaj phir se utha prashn charitra par mere,Aaj phir se uthi ungali chehre ki taraf mere,Khush rahne ki kala meri charitraheen ho gayi! They questioned my spirit again and again,Fingers…

Read more