Ummeed Ki Dor (The Rope of Hope)

तेरी यादों में लिखी कविताएँ कई कहानियों में मेरी तेरे ही क़िस्से कई तुम चाहे जितना मुझे आज़माओ अभी डोर उम्मीद की कर दिए मैंने हिस्से कई। Teri Yaadon Mein Likhi Kavitaayen KaiKahaniyon Mein Meri Tere Hi Kisse KaiTum Chahe Jitna Mujhe Aazamao AbhiDor Ummeed Ki Kar Diye Maine Hisse Kai. Wrote sonnets many in…

Read more

Dhundhali Yaaden (Hazy Memories)

धुँधली सी वो यादें तेरी मुझे अब भी तड़पा जाती हैं मुस्कान तेरे चेहरे पर जो थी वह मेरे चेहरे पर आ जाती है। Dhundhali Si Wo Yaaden TeriMujhe Ab Bhi Tadpa Jaati HainMuskan Tere Chehre Par Jo ThiWah Mere Chehre Par Aa Jaati Hai. Those hazy memories of yours They still drive me crazyThe beam on your…

Read more

Raah (Wait)

नींद भले ना आए, फिर भीख़्वाब तुम्हारे ही देखेंगे करवट चाहे जितनी ले लूँतुमको बस तुमको सोचेंगेतुमको मालूम हो ना होसंग तुम्हारे रहना चाहेंगे  तुम मिलने आओ या ना आओपर राह तुम्हारी ही देखेंगे।  Neend Bhale Na Aaye, Phir Bhi Khwaab Tumhare Hi DekhengeKarwat Chahe Jitni Le LunTumko Bus Tumko SochengeTumko Maloom Ho Na HoSang…

Read more